विलयन क्या है और इसके प्रकारों को समझाओ ?

Spread the love

दोस्तों आज हम बात करने वाले है विलयन के बारे में की विलयन क्या होता है और इसके प्रमुख घटक क्या होते है  और विलयन में उपस्तिथ अवयव का निर्धारण कैसे करते है ?

science gk 1
पृथ्वी के बारे में कुछ रोचक जानकारी

विलयन क्या है ?

 दो या दो से अधिक पदार्थो  समांगी  मिश्रण  को  विलयन कहते  है यहाँ  पर  समांगी  शब्द  का इस्तेमाल किया गया  है जिसका अर्थ है समान अंग अथार्थ हम कह सकते है की उस  मिश्रण को  हम भौतिक  विधियों के  द्वारा अलग- अलग  नही कर सकते है इस प्रकार का मिश्रण विलयन कहलाता है

उदाहरण =  जैसे की नमक और पानी , शक्कर और पानी का घोल, नीबू और पानी का घोल

इनको भौतिक विधियों के द्वारा अलग नही  कर सकते  है इसके लिए हमें रासायनिक विधियों का ही इस्तेमाल करना पड़ता है

विलयन में उपस्तिथ  घटक 

विलायक – विलयन में जो पदार्थ सबसे अधिक मात्रा में होता है उसे  विलायक  कहते है   जैसे  की नमक और पानी का  घोल जिसमे नमक विलेय और पानी  विलायक होगा  जब  हम  की  पदार्थ   को  विलायक  में मिलते है तो  बनाने वाले  विलयन  प्रक्रति  विलायक  के  जैसी   होती   है या   हम  ये   कह  सकते  है  की  विलयन   बनते समय जो पदार्थ किसी अन्य  पदार्थ  को  अपने अंदर  घोल  लेता  है  उसे विलायक कहते है 

विलायक के गुण 

  • विलायक देखने ने विलयन के जैसा लगता है 
  • यह विलेय  पदार्थ को अपने अंदर घोल लेता है 
  • विलयन बनाते समय विलायक की मात्रा विलयन मे ज्यादा होती  है 

विलेय – विलयन में जो पदार्थ कम मात्रा में होता है उसे विलेय कहते है जैसे की शक्कर और पानी     के घोल में शक्कर विलेय तथा पानी  विलायक होगा  विलेय पदार्थ  विलायक  में  घुल   कर  अपना अस्तित्व खो देता है और विलायक  के जैसा दिखने लगता है 

विलेय के गुण 

  • विलयन में कम मात्रा में होता है 
  • विलायक में घुल कर अपना अस्तित्व समाप्त कर देता है