ram kya hai – types of ram in hindi ?

Spread the love

दोस्तों जब हम कोई कंप्यूटर या लैपटॉप लेने जाते है तो उसकी मेमोरी के बारे में चर्चा अवश्य करते है तो  हम जानेगे ऐसे ही एक टॉपिक  RAM के बारे में ram kya hai इसका क्या उपयोग है ! यह कंप्यूटर में क्यों आवश्यक है इसकी उपस्तिथी से तथा अनुउपस्तिथी से कंप्यूटर पर क्या प्रभाव पड़ता है ?

   


COMPUTER MEMORY KYA HAI OR KITNE PRAKAR KI HOTI HAI
CACHE MEMORY KYA HAI
कंप्यूटर ज्ञान

RAM क्या है और कितने प्रकार की होती है ?

 

ram kya hai इस वर्ड से लगभग सभी  smart phone user  जानते है  क्योकि जब आप कोई smart phone लेने जाते है तो आपके मन में एक विचार आता है की हमें  कितनी RAM वाला SMART PHONE लेना  है जिससे हमको  भविष्य में  ram से सम्बंधित आने  वाली समस्याओ का सामना न करना पड़े !

RAM की अगर बात करे तो ये मोबाइल,कंप्यूटर,लेपटोप की अत्यंत महत्वपूर्ण ईकाई है RAM के बिना ये डिवाइस कुछ भी काम नहीं कर सकते है तथा कम RAM के कारण ये डिवाइस बेहतर तरीक़े से कार्य नही कर सकते है ! सबसे पहले हम आपको बताते RAM का FULL फॉर्म क्या है RAM का पूरा नाम रैंडम एक्सेस मेमोरी (RANDOM ACCESS MEMORY) है इसके फुल फॉर्म से इसके बारे  कुछ पता  नही चलता है  तो आइए जाने RAM क्या है ?

जब हम कंप्यूटर  किसी सॉफ्टवेयर या गेम को INSTALL करते है तो वो हार्डडिस्क में INSTALL होता है परन्तु जब हम उस सॉफ्टवेर या गेम को START करते है तो RAM का कार्य उस सॉफ्टवेर को हार्डडिस्क से लाकर RUN करना है जब तक वह सॉफ्टवेयर चलता है तब तक RAM पर ही चलता है जब हम  हम किसी सॉफ्टवेयर या गेम को START करते है तो उसे OPEN होने में कुछ ही सेकंड लगते है क्योकि RAM की स्पीड  बहुत तेज होती है जब आपके phone या कंप्यूटर में RAM कम होती है और आप कोई बड़ा APPLICATION RUN करते है तो आपका मोबाइल या कंप्यूटर हैंग होने लगता  है इसलिए कहा जाता है ज्यादा RAM वाला ही मोबाइल या कंप्यूटर लेना चाहिए  अतः ज्यादा RAM वाली डिवाइस MULTITASKING  के लिए उपयोगी है कंप्यूटर या लेपटोप में हम RAM बढ़ा सकते  है परन्तु मोबाइल में ये सुबिधा उपलब्ध नही है  पर दोस्तों आज हम केवल कंप्यूटर ram  के बारे में बात करेगे –

ram kya hai - types of ram in hindi ?

कंप्यूटर हो या लैपटॉप इनकी RAM  METAL OXIDE SEMICONDUCTOR से बनी होती है जिसे हम कही कही  शोर्ट में MOS  भी पढ़ते है यह दिखने में एक चिप की तरह होती है और ज्यादातर हरे या काले  रंग में देखने को मिलती है और यही वो डिवाइस है और कंप्यूटर या लैपटॉप की डिस्प्ले के लिए जिम्मेदार होती है अगर यह ख़राब या डैमेज हो जाए या कंप्यूटर या लैपटॉप के मदरबोर्ड में ठीक से नही लगायी जाए तो कंप्यूटर डिस्प्ले नही देता है इसे  कंप्यूटर की VOLATILE  मेमोरी भी कहते है वैसे तो मेमोरी स्टोरेज डिवाइस   होती है  पर RAM अस्थाई मेमोरी है इसमें डाटा जब तक ही SAVE रहता है तब तक कंप्यूटर ऑन की अवस्था में है  जैसे  ही कंप्यूटर बंद होता है RAM में स्टोर सारा डाटा स्वत: ही नष्ट हो जाता है !

                      TYPES OF RAM IN HINDI

RAM कितने प्रकार की होती है ?

RAM  दो प्रकार की होती है

  • SRAM 
  • DRAM  

SRAM

इसका पूरा नाम static Ram है इस Ram में भी डाटा तभी तक Save  रहता है जब तक बिजली का प्रवाह हो जैसे ही बिजली की आपूर्ति बंद हो जाती है डाटा नष्ट हो जाता है इसमें स्टोरेज Cell परिपथ में एक से अधिक ट्रांजिस्टर लगे होते है यह ram सस्ती होती है और डायनामिक Ram  से तेजी से कार्य करती है तथा इसे बार बार रिफ्रश भी नहीं करना पड़ता है !

DRAM 

इसका पूरा नाम डायनामिक Ram है और इस Ram में स्टोरेज Cell परिपथ में एक ट्रांजिस्टर लगा होता है ट्रांजिस्टर का कार्य टीक वैसा ही होता है जैसे की किसी ऑन ऑफ स्विच का साथ ही इसमें एक Capacitor  भी लगा होता है जो बिजली को स्टोर करके रखता है यह एक चिप की तरह होती है 

 

कंप्यूटर RAM की शुरुआत DIPP MEMORY से हुई थी ये IC जैसी होती थी!उसके बाद 30 PIN की SIPP RAM आयी फिर  उसके बाद 30 PIN की SIMM RAM आयी जैसा की आप देख सकते है फिर 72 PIN की SIMM RAM आयी फिर DIMM RAM आया जिसे SD RAM के नाम से जाना जाता है फिर उसके बाद

DDR1

DDR2

DDR3

DDR4 RAM आयी !

आज अगर हम मार्केट में RAM लेने जाते है तो हमें   DDR3, DDR4 मिलती है !

DDR1, DDR2 RAM बंद हो चुकी है !

 

इस लेख के द्वारा हमने सीखा की ram kya hai और यह कितने प्रकार की होती है और यह कंप्यूटर को सुचारू रूप से चलाने के लिए क्यों जरूरी है आशा करता हूँ  दोस्तों आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा और टेक्नोलॉजी से जुडी  अधिक जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर विजिट करते रहीए ?