windows operating system  क्या है

Spread the love

 नमस्कार दोस्तों  आज हम बात करने वाले है ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में operating system  क्या होता है और कंप्यूटर में इसका क्या उपयोग है तथा यह कितने प्रकार का होता है और किस तरह उपयोग में लाया जाता है
ऑपरेटिंग सिस्टम कई प्रोग्रामो का समूह है और यह कंप्यूटर हो या मोबोले या लेपटोप सभी की मुलभुत आवश्यकता है पर यहाँ हम केबल कंप्यूटर लेपटोप ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में बात करेगे –


प्रिंटर क्या है ?
HTML हैडिंग क्या है ?

दोस्तों operating system  को हम बेसिकली OS के नाम से जानते है यह कई सॉफ्टवेयर का एक समूह है और यह कंप्यूटर के द्वारा होने वाले सभी ओपरेशन को नियंत्रित करता है यह उन प्रोग्रामो का समूह होता है जो कंप्यूटर की प्रमुख हार्डवेयर ने लगे होते है यह कंप्यूटर प्रमुख ह्जर्द्वारे जैसे की HARD-DISK ,PROCESSOR ,मदर-बोर्ड ,CD-राइटर को आपस में जोड़ता है कंप्यूटर में सभी हार्डवेयर को आपस में जोड़कर सबसे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम को इनस्टॉल किया जाता है अतः कंप्यूटर या लेपटोप में सबसे पहले इनस्टॉल होने वाला सबसे पहला प्रोग्राम है

 

हम कंप्यूटर कजो चला सके ऑपरेटिंग सिस्टम ऐसा एक प्लेटफार्म तैयार करता है या कंप्यूटर के यूज़ में आने वाले सभी उपकरणों को नियंत्रित करता है ऑपरेटिंग सिस्टम विशेष तौर पर CPU के मैनेजमेंट पर कार्य करता है 

जब हम कंप्यूटर की किसी भी input device द्वारा कोई भी निर्देश देते है तब ऑपरेटिंग सिस्टम का यह कार्य होता है की उस input device के द्वारा दिया गया निर्देश को ALU तक पंहुचा कर विश्लेषण में प्राप्त रिजल्ट को मेमोरी से आउटपुट यूनिट  तक पहुचना है 

            ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार  

सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम से  एक समय में केबल एक ही प्रोग्राम प्रोसेस  कर सकता है इस पर एक समय में एक ही यूजर काम कर सकता है 

मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टमइस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में एक से अधिक प्रोग्रामो को एक साथ चलाया जा सकता है 

मल्टीयूज़र ऑपरेटिंग सिस्टम – इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में एंड कम्प्यूटिंग डिवाइस का उपयोग किया जाता है जिसे टर्मिनल भी कहते है  एंड कम्प्यूटिंग डिवाइस के द्वारा कई यूज़रो को  कार्य करने के लिए एक प्लेटफार्म उपलब्ध कराते है है जिसमे अलग से कीबोर्ड ,माउस,तथा मोनिटर लगा होता है और उसनेटवर्क केबल के द्वारा मुख्य कंप्यूटर से जोड़ दिया जाता है  एंड कम्प्यूटिंग डिवाइस यूजर जो भी कार्य करता है उसका दता मुख्य कंप्यूटर पर save होता है 

नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में  नेटवर्क के द्वारा सभी कंप्यूटर को आपस में जोड़ दिया जाता है और सभी कंप्यूटर को शियर कर दिया जाता है  और फिर सभी कंप्यूटर के बीच फाइल्स का आदान-प्रदान होने लगता है  

बैच प्रोग्रामिंग ऑपरेटिंग सिस्टम इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में सभी एक जैसे  प्रोग्रामो का एक बैच बनाकर एक साथ RUN कराया जाता तथा क्योकि रैम कम होने के कारण जिस सॉफ्टवेयर पर यह प्रोग्राम RUN कराये जाते थे उसे बारबार लोड नहीं करना पड़ता था 

        ऑपरेटिंग सिस्टम का इतिहास 

ऑपरेटिंग सिस्टम का लग्भग 1950 में  IBM-700 कंप्यूटर के लिए बनाया गया था उस समय का ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत सरल था उस समय के ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना अगर हम आज की ऑपरेटिंग सिस्टम से करे तो  क्षमता और गति की द्रष्टि से उस समय का operating system  नगण्य है IBM-700 ऑपरेटिंग सिस्टम में जब हम एक कार्य करना शुरू कर देते थे तो जब तक हमारा पूरण कार्य समाप्त नही हो जाता था तब तक हम दूसरा कार्य प्रारंभ नही कर सकते थे या फिर हमें अपना पुराना कार्य केंसल करना पड़ता था 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

YouTube
YouTube